PILES CARE KIT (JATYADI TAILA 50ML + KASISADI TAILA 50ML + UDAR VIKAR HAR CHURNA 100GM)

Sold by: kartjet
0 sold

352.00

Piles Care Kit is a wonderful combination of three Ayurvedic medicines Jatyadi Taila + Kasisadi Taila + Udar Vikar Har Churna these products help in Piles , hemorrhoid piles, itching, bleeding, non-bleeding, fissures, internal and external hemorrhoids, Constipation & acidity

पाइल्स केयर किट एक इस प्रोडक्ट हैं जो पाइल्स को पूरी तरीके से खत्म कर देता हैं, इस किट में तीन आयुर्वेदिक उत्पादन , जात्यादि तेल, काशीसादि तेल और उदर विकार चूर्ण हैं , तो आइये जानते हैं इन प्रोडक्ट्स के बारे में ,
कामधेनु जात्यादि तैल पाइल्स को जड़ से खत्म कर देता हैं और किसी भी प्रकार की चोट हो, घाव हो, दाद, खाज, खुजली हो सब रोगों का रामबाण इलाज करता हैं,
कामधेनु कासीसादि तैल एक आयुर्वेदिक तेल है यह पाइल्स के उपचार के लिए जानी मानी औषधि है। अर्श के मस्सों पर इसका प्रयोग अच्छे परिणाम देता है। क्षारत्व गुण होने से यह पाइल्स के मस्सों को काट कर गिरा देता है।
कामधेनु उदर विकार हर चूर्ण जवाहरे, सौंठ, काली मिर्च, पीपल, हरड छाल, काला जीरा, सौंफ, सनाय, काला नमक आदि से मिलकर बना होता हैं।
उदर विकार चूर्ण कब्ज (मल अवरोध), एसीडिटी, खाने का ना पचना, भुख ना लगना, आदि को दूर कर पेट को साफ रखता है, पाइल्स रोग का प्रमुख कारण होता हैं कब्ज और उदर विकार हर चूर्ण इसी कब्ज को दूर करता हैं।
प्रयोग विधि , काशीसादि तेल और जात्यादि तेल को समान मात्रा में लेकर रूही के फाहे से पाइल्स वाले जगह पर हल्के हाथ से लगाए, और उदर विकार चूर्ण 3-3 दिन के अंतराल से रात को सोते समय आधा चम्मच गुनगुने पानी से लेना हैं।
ध्यान रखे उदर विकार चूर्ण 3-3 दिन के अंतराल से लेना हैं, इस किट का प्रयोग करके आप पाइल्स को पूरी तरह से खत्म कर सकते हैं।

Piles Care Kit is a wonderful combination of three Ayurvedic medicines Jatyadi Taila + Kasisadi Taila + Udar Vikar Har Churna these products help in Piles , hemorrhoid piles, itching, bleeding, non-bleeding, fissures, internal and external hemorrhoids, Constipation & acidity

पाइल्स केयर किट एक इस प्रोडक्ट हैं जो पाइल्स को पूरी तरीके से खत्म कर देता हैं, इस किट में तीन आयुर्वेदिक उत्पादन , जात्यादि तेल, काशीसादि तेल और उदर विकार चूर्ण हैं , तो आइये जानते हैं इन प्रोडक्ट्स के बारे में ,
कामधेनु जात्यादि तैल पाइल्स को जड़ से खत्म कर देता हैं और किसी भी प्रकार की चोट हो, घाव हो, दाद, खाज, खुजली हो सब रोगों का रामबाण इलाज करता हैं,
कामधेनु कासीसादि तैल एक आयुर्वेदिक तेल है यह पाइल्स के उपचार के लिए जानी मानी औषधि है। अर्श के मस्सों पर इसका प्रयोग अच्छे परिणाम देता है। क्षारत्व गुण होने से यह पाइल्स के मस्सों को काट कर गिरा देता है।
कामधेनु उदर विकार हर चूर्ण जवाहरे, सौंठ, काली मिर्च, पीपल, हरड छाल, काला जीरा, सौंफ, सनाय, काला नमक आदि से मिलकर बना होता हैं।
उदर विकार चूर्ण कब्ज (मल अवरोध), एसीडिटी, खाने का ना पचना, भुख ना लगना, आदि को दूर कर पेट को साफ रखता है, पाइल्स रोग का प्रमुख कारण होता हैं कब्ज और उदर विकार हर चूर्ण इसी कब्ज को दूर करता हैं।
प्रयोग विधि , काशीसादि तेल और जात्यादि तेल को समान मात्रा में लेकर रूही के फाहे से पाइल्स वाले जगह पर हल्के हाथ से लगाए, और उदर विकार चूर्ण 3-3 दिन के अंतराल से रात को सोते समय आधा चम्मच गुनगुने पानी से लेना हैं।
ध्यान रखे उदर विकार चूर्ण 3-3 दिन के अंतराल से लेना हैं, इस किट का प्रयोग करके आप पाइल्स को पूरी तरह से खत्म कर सकते हैं।

Vendor Information

  • No ratings found yet!